May 30, 2015

बढती सांप्रदायिकता पर फ़ौरन लगायें रोक

बढती सांप्रदायिकता पर फ़ौरन लगायें रोक 
हमारे देश में वोट की राजनीति के चलते अक्सर दंगे भड़काए जाते  रहे हैं | इसी राजनीति के तहत दंगों के वक्त प्रशासन को भी ढीला छोड़ दिया जाता है। इसकी पुनरावृत्ति पिछले दिनों 25 मई को हुई , जब सांप्रदायिक तत्वों ने गाँव की मस्जिद और मुसलमानों पर हमला किया और सुरक्षा कर्मी एक तरह से खामोश रहे | 
बताया जाता है कि अगर वे चाहते तो मुसलमानों को सुरक्षा की जा सकती थी | फरीदाबाद के अटाली गांव में धार्मिक स्थल के निर्माण विवाद में मुसलमानों के 15 से अधिक घर और एक दर्जन वाहन आग की भेंट चढ़ गए। इस दौरान पथराव में घायल सात लोगों को बल्लभगढ़ के सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। तनाव को देखते हुए गांव में धारा 144 लागू कर दी गई है। बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। उल्लेखनीय है कि आसपास केलगभग बीस गांव के लोगों ने इकट्ठा होकर अदालत के आदेश और सरकारी मंज़ूरी लेकर बनाई जा रही एक मस्जिद का काम रुकवा दिया , तोड़फोड़ और मारपीट की | हालात इतने बिगड़े कि गाँव के मुसलमानों को मजबूरन गाँव छोडकर अन्यत्र जाना पड़ा | 
 इलाक़े के एक सामाजिक कार्यकर्ता जनाब मुमताज़ अली ने बताया कि लगभग तीन हज़ार की आबादी वाले इस गाँव में लगभग चार सौ मुसलमान हैं , जो यहाँ लगभग चार सौ साल से रहते हैं | 1985 में यहाँ मुस्लिम क़ब्रिस्तान की ज़मीन पर एक कच्ची मस्जिद सबकी रज़ामंदी से बनाई गई थी | इसके बाद इस पर छप्पर की जगह टीन शेड डाले गए | लगभग 6 साल पहले भी जब इस मस्जिद की छत पक्की करने के लिए पिलर उठाए जा रहे थे , तो जात बिरादरी के लोगों ने आपत्ति जताई और अदालत से स्टे ले लिया | गत 31 मार्च को अदालत ने मस्जिद के हक़ में फ़ैसला दे दिया और मस्जिद निर्माण की मंजूरी भी दे दी | इसके बाद स्थानीय अधिकारियों से मस्जिद - निर्माण की मंज़ूरी ली गई | हरियाणा वक्फ़ बोर्ड ने निर्माण के लिए दो लाख रुपए का अनुदान दिया | विगत 25 मई को जब मस्जिद निर्माण का कार्य चल रहा था , तभी शाम लगभग पांच बजे हज़ारों लोग आये और तोड़फोड़ - मारपीट की | हादसे में घायल ने बताया कि निर्माण के दौरान हमलावरों ने पथराव कर घरों में आग लगा दी। पुलिस को तनाव के बारे में पहले से ही पता था , किन्तु वह  घटनास्थल पर करीब डेढ़ घंटे बाद पहुंची।
डीसीपी बल्लभगढ़ भूपेंद्र ¨सह ने बताया कि पथराव में घायल कुछ महिलाएं व बच्चे बस्ती में ही रह गए , जिन्हें बाद में पुलिस ने बाहर निकाल कर एंबुलेंस से बल्लभगढ़ के सरकारी अस्पताल में पहुंचाया। उन्होंने बताया कि कहीं कोई अंदर न रह गया हो इसके लिए पुलिस संप्रदाय विशेष के घरों को सर्च कर रही है। फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंच आग पर काबू पा लिया है। इस घटना की सीधी ज़िम्मेदारी हरियाणा सरकार पर आती है , जहाँ भाजपा सरकार | संयोग से केंद्र में भी भाजपा है , अतः गड़बड़ी फ़ैलाने वालों से सख्ती के साथ निबटा जा सकता है | हरियाणा सरकार के साथ ही देश के गृह मंत्री को चाहिए कि वे राज्य सरकारों को सांप्रदायिकता फैलाने वाले तत्वों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दें एवं सांप्रदायिकता पर काबू पाएं |

About the Author

मैं अपना क्या परिचय कराऊं ... आप इतना जान लीजिए कि कुछ लिखता रहता हूँ , इस संकल्प एवं आकांक्षा के साथ कि किंचित मेरे विचार समाजोपयोगी - मानवोपयोगी बन सकें | इस क्रम में '' साहित्य मन '' आपके समक्ष है , जो एक प्रयास है खट्टे - मीठे अनुभवों की आवयविक समग्रता का , वेदना - समवेदना , अनुभूतियों और अनुभवों को बाँटने का ... यह भी कह सकते हैं कि '' साहित्य मन '' आत्म - अन्वेषण की प्रक्रिया है , आत्मशोधन का पड़ाव है , जिसका उद्देश्य किसी पर भी आघात एवं आलोचनात्मक प्रहार करना तथा किसी को भी नीचा दिखाना नहीं है | साथ ही साहित्य - प्रवाह को अवरुद्ध करना भी नहीं है | मैं अपने बारे में यह बताता चलूं कि मैं लगभग 32 वर्षों से पत्रकारिता और साहित्य की सेवा में संलग्न हूँ | प्रतिदिन कुआँ खोदता और पानी पीता हूँ , जिस पर मुझे सायास गर्व है | --- सबको यथायोग्य अभिवादन के साथ ----- आपका अपना ही ------------ [ डॉ .] मुहम्मद अहमद [ 19 दिसंबर 2013]

0 comments:

Post a Comment